Thursday, 10 August 2017

प्रीति की लौ जलाने की बात कर


प्रीत की लौ जलाने की बात कर
साजन  प्यार निभाने की बात कर
,
पल दो पल की ज़िन्दगी अब जी लें
यूं न अब दिल दुखाने  की बात कर
,
खुला आसमां  बुला  रहा है हमें
जहां से दूर जाने की बात कर
,
बहुत रोये है जीवन में हम अब
ज़िन्दगी  मुस्कुराने की बात कर
,
अाई है चमन में  बहारें सजन
अब गीत गुनगुनाने की बात कर

रेखा जोशी